रविवार, 6 नवंबर 2011

विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी होने के लिए शासकीय निगमों और कंपनियों के कर्मचारियों के लिए पूर्व शर्तें

निर्वाचन की आहट अब बहुत करीब से आती हुयी सुनाई दे रही है सो निर्वाचन से जुडे अपराधों के बारे में पडताल करते हुये मेरी नजर आदरणीय दिनेश जी के तीसरे खंभे पर पडी जिसमें से निर्वाचन से जुडी कुछ खास खास खबरों को आपके साथ साझा कर रहा हूँ इसी कडी में पहला लिंक है-
तीसरा खंबा: विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी होने के लिए शासकीय निगमों और कंपनियों के कर्मचारियों के लिए पूर्व शर्तें

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया लगा! शानदार पोस्ट!
    मेरे नये पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्रेम की उपासक अमृता जी का हौज खास वाला घर बिक गया है। कोई भी जरूरत सांस्कृतिक विरासत से बडी नहीं हो सकती। इसलिये अमृताजी के नाम पर चलने वाली अनेक संस्थाओं तथा इनसे जुडे तथाकथित साहित्यिक लोगों से उम्मीद करूँगा कि वे आगे आकर हौज खास की उस जगह पर बनने वाली बहु मंजिली इमारत का एक तल अमृताजी को समर्पित करते हुये उनकी सांस्कृतिक विरासत को बचाये रखने के लिये कोई अभियान अवश्य चलायें। पहली पहल करते हुये भारत के राष्ट्रपति को प्रेषित अपने पत्र की प्रति आपको भेज रहा हूँ । उचित होगा कि आप एवं अन्य साहित्यप्रेमी भी इसी प्रकार के मेल भेजे । महामहिम राष्ट्रपति जी का लिंक यहां है । कृपया एक पहल आप भी अवश्य करें!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. एक सवाल यह है कि क्या सरकारी ठेकों को लेने वाले ठेकेदार भी लाभ के पद के अधीन हैं और उनका चुनाव अवैध हो सकता है ?

    उत्तर देंहटाएं

linkwithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लोकप्रिय पोस्ट